हरित घर – भाग 6

कृष्ण गोपाल वैष्णव, जोधपुर।

ऊर्जा संरक्षण

किसी काम को करने के लिए ऐसी विधि या प्रक्रम का पालन करना कि वह काम पूरा होने में कम ऊर्जा लगे, इसे ही ऊर्जा संरक्षण करना कहते हैं।
उदाहरण के लिए आप यदि कार से हर दिन आना जाना कर रहे हैं और यदि आप उसके स्थान पर साइकल का उपयोग करें तो उससे कार में लगने वाले ईंधन की बचत होगी और आपने उस ऊर्जा का उपयोग न कर उसका संरक्षण किया।

घर में ऊर्जा संरक्षण के उपाय
▪️कुछ एलईडी लाईट
जब उपयोग में न हो, बल्ब बुझा दें।
▪️ट्यूब लाईट, बल्बों तथा अन्य उपकरणों पर जमी हुई धूल को नियमित रूप से साफ करें।
▪️हमेशा आईएसआई मुहर लगे बिजली उपकरणों और साधनों का प्रयोग करें।
▪️अपनी ट्यूब लाइट और बल्बों को ऐसी जगह लगाएँ जहाँ प्रकाश आने में दिक्कत न हो।
▪️ऊर्जा बचाने के लिए एलईडी का प्रयोग करें
▪️अपने घरों में फ्लूरेसेन्ट बल्ब का उपयोग प्रतिदिन चार घंटे से अधिक करें।
▪️प्रतिदिन चार घंटे से अधिक जलने वाले दो 75 वाट के बल्बों की जगह 15 वाट के ऊर्जा बचत लैंप को जलायें। इस तरह आप प्रतिदिन लगभग 18 किलोवाट बिजली बचा सकते हैं।

भोजन बनाना

▪️भोजन बनाने में ऊर्जा क्षमतावाले चूल्हों का प्रयोग करें।
▪️भोजन बनाते समय बर्तन को ढक कर रखें। इससे खाना बनाते समय ऊर्जा की बचत होती है।
▪️भोजन बनाने से पहले अनाज को भिगोये रखें।

पुनःचक्रित कागज

▪️कागज बनाते समय पुनः चक्रित कागज कम प्राकृतिक संसाधन और कम विषाक्त रसायन का उपयोग करता है। यह बताया गया है कि 100 प्रतिशत अवशेष कागज से एक टन कागज का निर्माण किया जा सकता है। यह लगभग 15 वृक्षों को बचाता है। लगभग 2500 किलोवाट ऊर्जा की बचत करता है। लगभग 20 हजार लीटर पानी बचाता है। लगभग 25 किलो ग्राम वायु प्रदूषण को कम करता हैI

कृषि कार्यों में ऊर्जा की बचत

सिंचाई
▪️जल को पंपिंग के माध्यम से बाहर निकालना-
इन पम्प सेटों की कार्यक्षमता में छोटे-बड़े संशोधनों सहित 25 से 35 प्रतिशत के सुधार की संभावना होती है, जैसे इसकी जगह आईएसआई वाले पम्पों को प्रयोग में लाना।
▪️बड़े वॉल्व के चलते विद्युत / डीज़ल बचाने में मदद मिलती है क्योंकि कुँआ से पानी बाहर निकालने में अल्प ईंधन व ऊर्जा की आवश्यकता होती है।
▪️पाईप में घुमाव व गाँठ जितना कम होगा, उसी मात्रा में ऊर्जा को भी बचाया जा सकता है।
▪️किसान पाईप की ऊँचाई को 2 मीटर तक कम करके डीजल की बचत कर सकते हैं।
▪️पम्प अधिक कारगर तब होता है जब उसकी ऊँचाई कुएं के जल स्तर से 10 फीट से अधिक न हों।
▪️अच्छी गुणवत्ता वाले पीवीसी सेक्शन पाईप का इस्तेमाल करें ताकि 20 प्रतिशत तक की ऊर्जा व विद्युत को बचाया जा सके।
निर्माणकर्ता के निर्देशानुसार पम्प सेटों में नियमित तौर पर तेल व ग्रीस का प्रयोग किया जाना चाहिए।
▪️वोल्टेज व ऊर्जा संरक्षण की स्थिति को सुधारने के लिए मोटर सहित उपयुक्त आईएसआई मार्क वाले कैपासिटर का प्रयोग करना चाहिए।
▪️दिन के समय बल्बों को बंद रखें।
ऊर्जा संरक्षण : कुछ जानकारियाँ

▪️बल्व व ट्यूबलाइट पर जमी धूल को नियमित रूप से साफ़ करते रहे.
▪️पंखो की ब्लेड नियमित रूप से साफ करते रहे और समय समय पर ग्रीसिंग आयलिंग करते रहे. पुराने किस्म के रेगुलेटर के स्थान पर नए टाईप के इलेक्ट्रानिक्स रेगुलेटर लगावे.
▪️फ्रिज का दरवाजा बार-बार खोलने बंद करने से बिजली की खपत बढ़ती है।
टी.वी.म्यूजिक सिस्टम और ▪️टेपरिकार्ड आदि को स्टेंड बाई मोड में न रखे.
एक टी.वी. स्टेंड बाई मोड में रखने पर एक वर्ष में ७० यूनिट बिजली खर्च होती है।
▪️गीजर में अधिकतम विद्युत खर्च होती है अतः उतना पानी गरम करे जीतनी जरुरत है थर्मोस्टेट की सेटिंग कम करके ४५-५० डिग्री रखना चाहिए.
▪️क्या आप जानते है कि आपकी वार्षिक विद्युत खपत का २५ प्रतिशत रेफ्रिजेटर द्वारा खर्च होता है। फ्रिज के पीछे की तरफ़ लगी कूलिंग क्वाइल पर जमी धूल के कारण इसकी क्षमता घाट जाती है जिससे मोटर को बहुत अधिक कार्य करना पड़ता है और विद्युत खर्च बढ़ता है।
▪️फ्रिज को बाहरी दीवार से सटाकर नही रखना चाहिए.
▪️वासिंग मशीन में सलाना खपत का २० प्रतिशत भाग खर्च आता है इसमे धुलाई के लिए गरम पानी का तापमान नियंत्रित कर विद्युत ऊर्जा की बचत की जा सकती है।
▪️घरो के वातानुकूलन हेतु प्रयुक्त ए.सी.को सीधे धूप में न रखकर अथवा उसके लिए एक शेड बनाकर ६ प्रतिशत तक विद्युत ऊर्जा की बचत की जा सकती है।
▪️ऊर्जा संरक्षण कुछ उपाय
घरो में पानी की टंकियो में पानी पहुँचाने के लिए टाइमर का उपयोग करके पानी के व्यर्थ व्यय को रोककर विद्युत ऊर्जा की बचत की जा सकती है।
▪️साधारण १०० वाट के बल्ब के स्थान पर कम्पेक्ट फ्लोरोसेंट लैंप (सी.एल.एफ) का प्रयोग कर ७५ से ८० प्रतिशत तक ऊर्जा की बचत की जा सकती है साथ ही साधारण बल्ब की तुलना में लगभग आठ गुना चलते है। जिन प्रकाश बत्तियों का सर्वाधिक उपयोग किया जाता है उनके स्थान पर प्राथमिकता के आधार पर सी.एल.एफ लैंप का प्रयोग करना चाहिए.
▪️आई.एस.आई. चिन्हित विद्युत उपकरणों का इस्तेमाल करे.
▪️शादी विवाह जैसे सामाजिक आयोजन धार्मिक आयोजन यथासंभव दिन में ही करे.
▪️दिन में सूर्य के प्रकाश का अधिकतम उपयोग करे तथा गैर जरुरी पंखे लाईट ए.सी. इत्यादि उपकरणों को बंद रखे . खासकर कार्यालयीन समय में भोजन अवकाश के दौरान और कक्ष से बाहर जाते समय.
▪️आवासीय परिसरों की सड़क बत्तियों के लिए फोटो इलेक्ट्रिक कंट्रोल स्विच का उपयोग करना चाहिए.
▪️भवनों के निर्माण के दौरान प्लाट के चारो तरफ़ उपलब्ध भाग को पेडो/लताओं से आच्छादित करके हम भवनों को गर्म होने से बचा सकते है जिससे भवनों में रहने वालो को सीलिंग फैन और कूलर इत्यादि का कम से कम उपयोग करना चाहिए.
▪️कमरे की दीवार की भीतरी सतह पर हलके रंगों का प्रयोग करे ऐसा करने से कम वाट के प्रकाश उपकरणों से कमरे को उपयुक्त रूप से प्रकाशमान किया जा सकता है।
▪️कमरे के लिए हल्के रंग के पर्दों का प्रयोग करें।
▪️भोजन बनाने हेतु बिजली के स्थान पर सोलर कुकर व पानी गर्म करने हेतु गीजर के स्थान पर सोलर वाटर हीटर का उपयोग कर हम बहुमूल्य विद्युत ऊर्जा का संरक्षण कर राष्ट्रहित में भागीदार बन सकते है। यदि गीजर का उपयोग करे तो इसे न्यूनतम समय तक उपयोग में लायें इसके लिए थर्मोस्टेट एवं टाइमर के तापमान की सेटिंग का विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए।

4.1 8 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
98 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
S.V.Varshini
S.V.Varshini
11 days ago

Itz a gud thing

Aayu Jain
Aayu Jain
11 days ago

ऊर्जा बचाने के लिए ये सबी ऊपर हम अपने घर में भी अपनाएंगे और अपने आस पास के लोगो को भी ये सब बातें करेंगे के लिए जागरुक करेंगे।

Aayu Jain
Aayu Jain
11 days ago

ऊर्जा बचाने के लिए ये सबी ऊपर हम अपने घर में भी अपनाएंगे और अपने आस पास के लोगो को भी ये सब बातें करेंगे के लिए जागरुक करेंगे।
Thank you!

Aayu Jain
Aayu Jain
11 days ago

ऊर्जा बचाने के लिए ये सबी ऊपर हम अपने घर में भी अपनाएंगे और अपने आस पास के लोगो को भी ये सब बातें करेंगे के लिए जागरुक करेंगे।
शुक्रिया।

Saloni
Saloni
10 days ago
Reply to  Aayu Jain

बहुत अच्छी बातें हैं यह जो भी आपने लिखी है बहुत सुंदर आएंगे

Sakshi
Sakshi
9 days ago
Reply to  Saloni

Paryavaran me ham logo ko ghar ke aas pas saf sfai rakhni chahiye or plants bhi lgane chaiye.

Tushar Verma
7 days ago
Reply to  Saloni

yes

pragna
pragna
11 days ago

bla bla bla blaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaa

Tejas anarthe
11 days ago

hello i am tejas

Aanya Verma
Aanya Verma
11 days ago

My name is Aanya Verma.

Divyanshu Singh
Divyanshu Singh
11 days ago

Divyanshu Singh 10:52

Priyanshu Balasaheb Patil
Priyanshu Balasaheb Patil
11 days ago

Pariyavaran swach rakhna chaiye

Kashish Yadav
Kashish Yadav
10 days ago

We will try to do all the better things for our environment and ensure that all others do same

Kashish Yadav
Kashish Yadav
10 days ago

We will try to do all the better things for our environment and ensure that all others do same.

Kashish Yadav
Kashish Yadav
10 days ago

Save environment and save Resources

Khushi Priya.A
Khushi Priya.A
10 days ago

Excellent

Pawani sharma
Pawani sharma
10 days ago

So inspiring

Parmeet Singh
10 days ago

Paritavaran swach hona chaiye

Parmeet Singh
10 days ago

Parmeet

Vivaan chauhan
Vivaan chauhan
10 days ago

Harit ghar hoga toh humein hara bhara lagega

Charvi 6C
Charvi 6C
10 days ago

भारत को हमेशा स्वछ रखना चाहिए।
Thanks!!

Charvi 6C
Charvi 6C
10 days ago

Make India beautiful
Thanks!!

SHREYA KUSHWAHA
SHREYA KUSHWAHA
10 days ago

TODAY I KNOW HOW HOW PEOPLE WORK FOR ENVORMENT I RESPECT THEM WHO HELP FOR MAKING ENVORMENT CLEAN
I AM SHREYA KUSHWAHA

Mehakdeep kaur
Mehakdeep kaur
10 days ago

ऊर्जा बचाने के लिए ये सबी ऊपर हम अपने घर में भी अपनाएंगे और अपने आस पास के लोगो को भी ये सब बातें करेंगे के लिए जागरुक करेंगे।
शुक्रिया।

Divyanshu Mullick
10 days ago

I am honest to preserve all renewable/ non renewable energy, and our surrounding..
Use of actual need of water, not in excessive amount
Make Eco bricks..
Grow little plants like tulsi, money plant, aloevera, plant of tamarind..
Thank you
Candidate Divyanshu Mullick

ABHAY
9 days ago

Pariyavaran ko hamesa saaf sutra rakhna chaiye

Hemanshu Mittal
9 days ago

ऊर्जा बचाने के लिए ये सबी ऊपर हम अपने घर में भी अपनाएंगे और अपने आस पास के लोगो को भी ये सब बातें करेंगे के लिए जागरुक करेंगे।
Thank you!

Sharath
Sharath
4 days ago

Super

Priya gupta
9 days ago

I am priya gupta
We should follow maximum rules given above in our life

Dhenu
9 days ago

pariyavaran ko saaf sutra rakhna chahiye

Meena barnabas
Meena barnabas
9 days ago

Nice

Palavi
Palavi
9 days ago

Clean India

Amandeep
9 days ago

बहुत अच्छी बातें हैं यह जो भी आपने लिखी है बहुत सुंदर आएंगे

Chhavi bhardwaj
9 days ago

Nice

Aanya jain
9 days ago

Its very good

Aanya jain
9 days ago

Its good

Pravin kumar
Pravin kumar
9 days ago

भारत में पर्यावरण की कई समस्या है। वायु प्रदूषण, जल प्रदूषण, कचरा, और प्राकृतिक पर्यावरण के प्रदूषण भारत के लिए चुनौतियाँ हैं। पर्यावरण की समस्या की परिस्थिति 1947 से 1995 तक बहुत ही खराब थी। 1995 से २०१० के बीच विश्व बैंक के विशेषज्ञों के अध्ययन के अनुसार, अपने पर्यावरण के मुद्दों को संबोधित करने और अपने पर्यावरण की गुणवत्ता में सुधार लाने में भारत दुनिया में सबसे तेजी से प्रगति कर रहा है। फिर भी, भारत विकसित अर्थव्यवस्थाओं वाले देशों के स्तर तक आने में इसी तरह के पर्यावरण की गुणवत्ता तक पहुँचने के लिए एक लंबा रास्ता तय करना

Pravin kumar
Pravin kumar
9 days ago

भारत में पर्यावरण की कई समस्या है। वायु प्रदूषण, जल प्रदूषण, कचरा, और प्राकृतिक पर्यावरण के प्रदूषण भारत के लिए चुनौतियाँ हैं। पर्यावरण की समस्या की परिस्थिति 1947 से 1995 तक बहुत ही खराब थी। 1995 से २०१० के बीच विश्व बैंक के विशेषज्ञों के अध्ययन के अनुसार, अपने पर्यावरण के मुद्दों को संबोधित करने और अपने पर्यावरण की गुणवत्ता में सुधार लाने में भारत दुनिया में सबसे तेजी से प्रगति कर रहा है।

Pravin kumar
Pravin kumar
9 days ago

भारत में पर्यवर का ज्यादा ध्यान दिया जाना चाहिए।

Safi
9 days ago

itont no

Yukti
Yukti
9 days ago

I have also do this
Save Energy
Save Water
Save electricity

Yukti
Yukti
9 days ago

I have also do this work In my home and also tell everyone please save water save Energy and save electricity
And i am also make eco brick it is help to plastic reuse

Sakshi
Sakshi
9 days ago

Paryavaran ko hamesha saf suthra rakna chaiye.

Sakshi
Sakshi
9 days ago

Paryavaran me ham logo ko ghar ke aas pas saf sfai rakhni chahiye or plants bhi lgane chaiye.

Rahul Kumar
9 days ago

Yes , it is nice 👍

Sandeep kumar
Sandeep kumar
9 days ago

It is very useful and meaning ful

Sandeep kumar
Sandeep kumar
9 days ago

It is very use ful for a green environment

Lovepreet
8 days ago

Please Give option to Get Certificate

Hardik
Hardik
8 days ago

Paryavan swach rkhna chaiye

Hardik
Hardik
8 days ago

Paryavan saaf or suthra rkhna chahiye

Sara Gurung
Sara Gurung
8 days ago

Good

Miss ikra
8 days ago

Agar ham ye sab kare to jeewan vayteet karne mai koi preshani nahi hogi

98
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x