रामपुर हुनर हाट में पर्यावरण संरक्षण

उत्तर प्रदेश के रामपुर में चल रहे हुनर हाट में भीड़ के कारण कूड़ा भी हो रहा है लेकिन इसका हाथों हाथ निस्तारण भी हो रहा है। कूड़े से कंपोस्ट खाद बनाई जा रहे है जो लोगों को मुफ्त में दी जा रही है। हुनर हाट में कचरे से कौशल सेक्शन भी बना है।

पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आह्वान किया था कि कूड़े के पहाड़ खत्म होने चाहिएं। उनके स्वच्छता अभियान को ध्यान में रखकर हुनर हाट में एक विशेष मशीन लगाई गई है जो यहां निकलने वाले सारे कूड़े से खाद बना रही है। हुनर हाट बावर्ची खाना सेक्शन में लगे फूड स्टाल्स से निकलने वाले फूड वेस्ट और ग्रीन वेस्ट को इस मशीन द्वारा कंपोस्ट खाद में बदला जा रहा है। यह खाद हुनर हाट में आने वाले लोगों को मुफ्त में दी जा रही है। दिल्ली की स्टार्ट अप कंपनी क्लीन इंडिया वेंचर्स द्वारा मेक इन इंडिया के तहत निर्मित इस मशीन की क्षमता 500 किलोग्राम प्रति दिन कूड़े का निपटारा करने की है। जिलाधिकारी रविंद्र कुमार मांदड़ कहते हैं कि इस तरह की मशीन से कूड़े के निपटारे का सबसे बड़ा फायदा है कि कूड़े के ढेर नहीं लगने पाएंगे। ट्रकों में भरकर एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले जाने वाले ट्रांसपोर्टेशन खर्च की बचत होगी। हुनरहाट में स्वच्छता के साथ ही पर्यावरण संरक्षण पर भी जोर दिया जा रहा है। इसके लिए नर्सरी की व्यवस्था की गई है, जिसमें विभिन्न प्रजातियों के पौधे हैं, जिसे बड़े कायदे से सजाया गया है। लोगों को पौधे खरीदने के लिए प्रेरित भी किया जा रहा है। उन्हें बहुत कम दाम पर पौधे दिए जा रहे हैं। नर्सरी स्वामी कहते हैं कि यहां उनका मकसद फायदा कमाना नहीं, बल्कि लोगों को पौधरोपण के प्रति प्रेरित करना है।

Source: दैनिक जागरण

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x