पहुंचाना न नुकसान , धरोहर का रखना ध्यान !!

कोल्हापुर के रंकाला झील का निर्माण स्‍वर्गीय महाराजा श्री शाहू छत्रपति ने करवाया था। महालक्ष्‍मी मंदिर के पश्चिम में स्थित रंकाला झील यहां के स्‍थानीय लोगों के साथ-साथ सैलानियों के बीच भी बहुत लोकप्रिय है। झील के आस पास चौपाटी और अनेक उद्यान है। देश-विदेश से रंकाला की ओर पलायन करने वाले प्रवासी पक्षियों की संख्या इस समय बहुत अधिक है जिसे पर्यटक बहुत पसंद करते हैं।
लेकिन रंकाला की शोभा प्लास्टिक और कांच की बोतलों एवम विभिन्न प्रकार के कचरों से प्रभावित हो रही है। प्लास्टिक कचरा हवा के माध्यम से रंकाला के पानी में पहुँचकर प्रदुषित कर रहा है । इसके दुष्प्रभाव से यहाँ आने वाले पर्यटक और प्रवासी पक्षी भी अछूते नहीं हैं।
इस समस्या के समाधान के लिए पर्यावरण पर काम कर रहे कोल्हापुर अर्थ वारियर्स, ट्री लवर्स वेलफेयर ऑर्गनाइजेशन, गार्डन्स क्लब, माई वसुंधरा ग्रुप, वी ट्री लवर्स ग्रुप, बर्ड्स ऑफ कोल्हापुर ने पूरी रंकाला परिक्रमा कर मिशन क्लीन कोल्हापुर की शुरुआत की है।
सफाई अभियान के दौरान करीब 125 किलो प्लास्टिक कचरा एकत्र किया गया और इसे कोल्हापुर नगर निगम को सौंप दिया गया। कोल्हापुर अर्थ वारियर्स द्वारा गाडगे बाबा – #मिशन क्लीन कोल्हापुर अभियान पर प्रबोधन किया गया।
इस अभियान में (महाराष्ट्र राज्य वन्यजीव बोर्ड के सदस्य) श्री सुहास वैनगंकर, तृप्ति देशपांडे, सुप्रिया भस्मे, वर्षा वैचल, रमा गायकवाड़, जयश्री कजारिया, आशीष कोगलेकर, अमोल बुद्ध, परितोष उरकुड़े, तात्या गोवावाला, युवराज गुरव, दीपक भाई शिरोडकर, हसमुख नितिन दोईफोडे और सभी संगठनों के सदस्य बड़ी संख्या में मौजूद रहे।

इस कार्य में कोल्हापुर नगर निगम के अधिकारी व कर्मचारी भी शामिल हुए।
कोल्हापुर अर्थ वारियर्स ने अधिक से अधिक प्रकृति प्रेमियों से हर महीने के अंतिम रविवार को इस अभियान के लिए समय निकालने की अपील की है।

5 1 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x