केवल साइकिल से यात्रा कर प्रकृति के प्रति योगदान-पंजाब

बहुत सारे लोगों का सपना बुढ़ापे में जुनून बन जाता है। कुछ ऐसा ही सपना 58 वर्षीय सोहन सिंह सोढ़ी ने बहुत कम उम्र में देखा था। जो आज उनका जुनून बन गया है। वह पिछले 7 सालों से पूरे जोश के साथ साइकिल चला रहे हैं। उनके समर्पण और लोकप्रियता ने उनके आयु वर्ग के साथ साथ युवाओं का भी ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया। जिसके बाद उन्होंने 2015 में 10 लोगों के साथ मिलकर ‘पेडलर्स स्क्वैप’ नाम के समूह का गठन किया। अब तक उन्होंने 51000 किलोमीटर की यात्रा साइकिल द्वारा पूरी कर ली है। सोढ़ी ने बताया कि पंजाब राज्य के फिरोजपुर जिले के एक व्यक्ति ने अपने सोशल मीडिया हैंडल से साइकिल की तस्वीर शेयर कर लिखा कि क्या कोई उन्हें ज्वाइन कर सकता है? उनके इस पोस्ट से प्रभावित होकर सोढ़ी ने उनके साथ साइकिल चलाने का फैसला लिया और अगले दिन उन्होंने एक नई साइकिल खरीद ली।

जिसके बाद उन्होंने प्रतिदिन उस व्यक्ति के साथ 25 से 30 किलोमीटर साइकिल से सफर करने लगे। अब तक अनवरत रूप से चल रहा है। उन्होंने हमें बताया कि वह रोज 300 किलोमीटर से लेकर 500 किलोमीटर तक की यात्रा साइकिल द्वारा अकेले ही कर सकते हैं। केवल इतना ही नहीं बल्कि उनके द्वारा 33 घंटों में नई दिल्ली से दोराहा से नई दिल्ली अपनी यात्रा पूरी की है। अपने इस साइकिल यात्रा के बाद वह शहर के पहले ‘सुपर रैंडोनूर’ बन गए हैं।

सोहन सिंह सोढ़ी लोगों के लिए प्रेरणा के रूप में काम कर रहे हैं। पहली बात तो यह है कि वह अपनी इतनी उम्र होने के बावजूद भी साइकिल के द्वारा इतनी दूर की यात्राएं अकेले ही तय करते हैं और वहीं उनके उमंग देखकर भी लोग काफी प्रभावित होते हैं। वह चाहते हैं कि आज के युवा जिम कार से जाने के बजाय साइकिल से जाएं।  सोढ़ी कहते हैं कि साइकिल को प्राथमिकता देने से जिम जाने वालों को अपने वार्म वाले टाइम की बचत हो जाएगी।  हम सबको सोहन सिंह सोढ़ी जैसे लोगों से प्रेरणा लेनी चाहिए। जो इतनी उम्र में भी साइकिल के जरिए हर रोज एक नया रिकॉर्ड कायम कर रहे हैं।

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x